Thursday, 08th October, 2020, 08:33am
Author Name : RUPA
digital-signature

एक डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफ़िकेट (DSC) - डीएससी एक प्रमाण पत्र है जो किसी व्यक्ति की पहचान को डिजिटल रूप से मान्य करता है, यह अधिकारियों को प्रमाणित करके जारी किया जाता है। डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफ़िकेट सार्वजनिक-कुंजी एनक्रिप्ट (Public key encryption) का उपयोग करता है और सर्टिफ़िकेट रखने वाले व्यक्ति का सुरक्षित डिजिटल हस्ताक्षर बनाता है। DSC में प्रमाणित प्राधिकारी द्वारा जारी किए गए उपयोगकर्ता की जानकारी जैसे नाम, पिन कोड, ई-मेल पता, देश, जारी करने की तारीख शामिल है।। एक बार प्रमाणपत्र समाप्त हो जाने के बाद, प्रमाणपत्र धारक को इसे नवीनीकृत करने की आवश्यकता होती है। एक व्यक्ति व्यक्तिगत और व्यावसायिक उपयोग के लिए एक या अधिक डीएससी (DSC) प्राप्त कर सकता है। ये डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाण पत्र कानूनी अदालतों और अन्य आधिकारिक संगठनों में सबूत के रूप में स्वीकार किए जाते हैं।



Wednesday, 07th October, 2020, 03:49pm
Author Name : RUPA
digital-signature

Applying for renewal or change in DSC, follow simple process to renew it, types, documents required for it, and how to apply for emudhra renew DSC online. A Digital Signature Certificate (DSC) or Digital Signature is a mathematical technique that is used to vindicate the authenticity and integrity of a message, software or digital document. It is the digital equivalent or an electronic format of physical or paper certificates. Digital Signature Certificates or DSC are being used by various government agencies and now is a legal requirement in various applications. Some examples of physical certificates are Driving License, Passport or Membership Cards. DSC guarantees that the contents of a message have not been changed in transit. The validity of the certificate is handled by law, and the certificate cannot be bought for more than three years and less than a year.



Wednesday, 07th October, 2020, 03:46pm
Author Name : RUPA
digital-signature

एक डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट (DSC) एक सुरक्षित डिजिटल कुंजी है जो धारक की पहचान को प्रमाणित करता है, जिसे एक सर्टिफिकेशन अथॉरिटी (CA) द्वारा जारी किया जाता है। इसमें आमतौर पर आपकी पहचान (नाम, ईमेल, देश, APNIC खाता नाम और आपकी सार्वजनिक कुंजी) होती है। डिजिटल सर्टिफिकेट पब्लिक की इन्फ्रास्ट्रक्चर अर्थ डेटा का उपयोग करते हैं, जिसे निजी कुंजी (Private Key) द्वारा डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित (authenticated) या एन्क्रिप्ट (encrypt) किया गया है, केवल इसकी संबंधित सार्वजनिक कुंजी द्वारा डिक्रिप्ट (decrypt) किया जा सकता है। एक डिजिटल प्रमाणपत्र एक इलेक्ट्रॉनिक "क्रेडिट कार्ड" है जो वेब पर व्यापार या अन्य लेनदेन करते समय आपकी साख स्थापित करता है।



Wednesday, 07th October, 2020, 03:45pm
Author Name : RUPA
digital-signature

Digital Signature Certificate for GST is used to file GST easily and acts as a substitute for the hand-written signature. Digital Signature Certificate (DSC) is an encrypted and secure way to acknowledge the certificate holder. There are different types of Digital Signature Certificate. For GST filing, a Class 2 DSC is needed. Under GST, all the documents should be uploaded digitally like GST applications or documents.



Wednesday, 07th October, 2020, 03:44pm
Author Name : RUPA
digital-signature

Digital signature certificates for Foreign Trade (DGFT) can be used by importer and exporter organizations to ensure the authentication of the document. A digital signature certificate can be used to sign the License application form online electronically by securely log on to the DGFT Online License Filing Application. This helps the user to keep their online transaction secured and ensure the users that the data cannot be viewed or altered by any unauthorized person. DGFT can prevent any fraudulent practices easily by using class 3 Digital Signature Certificate for Foreign Trade. It will also improve on response time taken while applying for a license with Directorate General of Foreign Trade (DGFT).